Tue. Dec 18th, 2018

हिन्दीओज कविता –सर पैदा होना चाहिए |

कट जाए शाने हिन्द भारती वो सर पैदा होना चाहिए |

 करे जो नेस्तनाबूद दुश्मन पर वो मादा होना चाहिए |

नहीं आजादी युही कितनी कोख मांगे उम्मीद सुनी हुई |

 शहीदो सहादत सलाम नाम सर सजदा होना चाहिए |

बीर बिस्मिल बिरसा सिद्धू कानहु खुदी कुर्बानी नमन |

जंग लड़ो ना लड़ो वतने जज्बा जियादा होना चाहिए |

थर्राता है थर थर दुशमन भारत बिरो शेर हुंकारो से |

 हिन्दे दीवाना बन्दना माँ भारती ख्वाजा होना चाहिए |

उन्नति भी जरूरी राजनीति भी जरूरी वतन के लिए |

देश हिफाजत पहले सियासत मगर पर्दा होना चाहिए |

मिटा गया जहा नामो नीसां दगा वतन करने वालो का |

गद्दार गुलशने चमन कलम सर आधा  होना चाहिए |  

श्याम कुँवर भारती – कवि /लेखक /गीतकार /समाजसेवी

मोब।/व्हात्सप्प्स -9955509286

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *